Recent Posts

Divya Prakash Dubey Quotes

 

Divya Prakash Dubey Quotes in Hindi

बातें हमारे शरीर का वो जरुरी हिस्सा होती है जिनको कोई दूसरा ही पूरा कर सकता है। अकेले बड़बड़ाया जा सकता है, पागल हुआ जा सकता है, बातें नहीं की जा सकती”

― Divya Prakash Dubey, मुसाफिर Cafe

“कहानियाँ कोई भी झूठ नहीं होती । या तो वो हो चुकी होती है या वो हो रही होती हैं या फिर वो होने वाली हैं।”

― Divya Prakash Dubey, मुसाफिर Cafe

“पहली हर चीज की बात हमेशा कुछ अलग होती है क्योकि पहला न हो तो दूसरा नहीं होता, दूसरा न हो तो तीसरा, इसलिए पहला कदम ही जिन्दगी भर रास्ते में मिलने वाली मंजिले तय कर दिया करता हैं।”

― Divya Prakash Dubey, मुसाफिर Cafe

“जो सुन के अच्छा लगता है वो अच्छा होता हैं और जो सुन के भी अच्छा न लगे वो अच्छा होकर भी अच्छा नहीं होता।”

― Divya Prakash Dubey, मुसाफिर Cafe

“वो रिश्ते कभी लंबे नहीं चलते जिनमें सबकुछ जान लिया जाता है ।”

― Divya Prakash Dubey, मुसाफिर Cafe

“जिन्दगी एक ऐसा राज है जो बिना जाने हर जेनेरेशन बस आगे बढ़ते चले जाती है ।”

― Divya Prakash Dubey, मुसाफिर Cafe

“सच्ची आजादी का कुल मतलब अपनी मर्जी से भटकना हैं ।”

― Divya Prakash Dubey, मुसाफिर Cafe

“ठिकाना तो कोई भी शहर दे देता हैं, गहरी नीद कम शहर दे पाते हैं ।”

― Divya Prakash Dubey, मुसाफिर Cafe

“किसी को समझना हो तो उसकी शेल्फ में लगी किताबो को देख लेना चाहिए, किसी की आत्मा समझनी हो तो उन किताबो में लगी अंडरलाइन को पढ़ना चाहिए ।”

― Divya Prakash Dubey, मुसाफिर Cafe

“जिनको गहरी नीद नहीं आती वो समझ पाते हैं कि दुनिया में सुबह से अच्छा कुछ होता ही नहीं । किसी भी चीज को हम सही से समझ ही तब सकते हैं जब उसको पाकर खो दे ।”

― Divya Prakash Dubey, मुसाफिर Cafe

“गलतियाँ सुधारनी जरुर चाहिए लेकिन मिटानी नहीं चाहिए। गलतियाँ वो पगडंडियाँ होती है जो बताती रहती हैं कि हमने शुरू कहाँ से किया था।

― Divya Prakash Dubey, मुसाफिर Cafe

No comments